POPULAR POST · June 23, 2021 2

तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012- सरकार की इच्छा शक्ति हुई तो शीघ्र मिल सकती है नियुक्ति !

जादूगर के माम से प्रसिद्ध श्री अशोक गहलोत के पिछले कार्यकाल (2008 – 2013)  के दोहरान तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 पंचायती राज के माध्यम से की गई थी । यह भर्ती न केवल स्वयं उलझी है इस भर्ती ने न जाने कितने बेरोजगारों की जिंदगी को भी उलझाकर रख दिया ।


अलग अलग जिलों में ही नही वरन एक ही जिले में अलग अलग पेपर और सवाल, कई सवालों के जवाब गलत, बार बार मामला कोर्ट में , मानो कोर्ट में जाना भी भर्ती प्रक्रिया का एक चरण हो परिणामवरूप मामला उलझ गया और बार बार परिणाम जारी हुआ ।क्या अजीब खेल है भाई अधिक अंक वाले घूम रहे है दर दर और कम अंक वाले जी रहे है जिंदगी बेहतर ।


कुछ जिलों में हुई पालन कुछ में नही


कोर्ट के हस्तक्षेप से मुकेश कुमार टेलर बनाम सरकार के मामले में अधिक अंक वाले को नियुक्ति का आदेश हुआ। कुछ जिलों में तो इसकी पालना हुई और कुछ जिलों में पद रिक्त नही होने के नाम पर इसकी पालन नही हुई 

डबल बेंच ने दिया फिर दिया नियुक्ति का  आदेश

बेरोजगारों के संघर्ष और इच्छा शक्ति के परिणामस्वरूप मामला डबल बेंच में गया तो जयपुर उच्च न्यायालय ने 08 जनवरी 2020 को इस भर्ती में त्याग पत्र, मृत्यु, या पद ग्रहण नही करने या किसी भी आधार पर रिक्त रहे या हुये पदों को खाली मानते हुये अधिक अंक वाले को नियुक्ति का आदेश दिया था ।


सरकार ने  उच्चतम न्यायालय में लगाई SLP 

राजस्थान हाई कोर्ट की जयपुर बेंच के द्वारा दिए गए आदेश की पालना नहीं हुई और राजस्थान सरकार ने इस आदेश के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में विशेष याचिका दायर कर दी अभी भी सुप्रीम कोर्ट में लंबित हैं । जल्दी ही जुलाई माह में इसकी तारीख मिलने की संभावना है।


उपेन यादव ने किया अधिक अंक वालो का समर्थन


पिछले करीब 9 वर्षो से दर-दर की ठोकरें खा रहे तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 में अधिक अंकधारी बेरोजगारों के समर्थन में राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महा संघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने भी समर्थन का ऐलान किया । पिछले दिनों जयपुर में बेरोजगारों के हितों व मांगो के लेकर जो धरना प्रदर्शन हुआ उसमें उपेन यादव ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 की मांग को पुरजोर तरीके से उठाया था।


मंत्रिमंडलीय समिति ने दिया बेरोजगारों के हितों में कार्य का आश्वासन


उपेन यादव के आंदोलन मैं तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 में अधिक अंक धारी बेरोजगारों की मांग को डॉक्टर सुभाष गर्ग के द्वारा मानने और बेरोजगारों के हितों में कार्य करने का आश्वासन दिया था। बेरोजगारों को एक उम्मीद जागी है कि अब सरकार न्याय करेगी।आज भी बेरोजगारो को सरकार से उम्मीद है कि वह बेरोजगार के हित मे काम करेगी और अधिक अंकधारी बेरोजगारों को नियुक्ति देगी ।


बेरोजगारों के साथ संवेदनशील हो रही है सरकार


तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 की तरह ही शिक्षक भर्ती 2016 ,शिक्षक भर्ती 2018 का मामला भी कुछ उलझा हुआ था । सरकार ने पिछले दिनों शिक्षक भर्ती 2018 के  मामले का निस्तारण कर दिया तथा हाल ही में शिक्षक भर्ती 2016 में एसएलपी वापस लेकर जो भी उचित कार्यवाही होगी वह कर के इस मामले का निस्तारण करेगी । अब उम्मीद की जाती है कि सरकार इतनी ही संवेदनशीलता तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के मामले में दिखाएगी और बेरोजगारों के साथ न्याय करेगी ।


सरकार का रवैया ठीक रहा तो शीघ्र मिल सकती है नियुक्ति


राजस्थान बेरोजगार  एकीकृत महा संघ के अध्यक्ष उपेन यादव के समर्थन और पिछले दिनों मंत्रिमंडलीय समिति के माध्यम से डॉक्टर सुभाष गर्ग के माध्यम से मिले आश्वासन के बाद अब बेरोजगारों के साथ न्याय करना सरकारी पाले में है । जुलाई 2021 में सर्वोच्च न्यायालय में एसएलपी की सुनवाई की तारीख मिलने की पूरी संभावना है ।

अगर इस भर्ती में अधिक अंकधारी बेरोजगारों के साथ सरकार का रवैया ठीक रहा और सरकार,नेताओ की इच्छा शक्ति हो, कथनी करनी में फर्क न हो तो बेरोजगारों के हितों में निर्णय होगा । सब कुछ ठीक रहा तो शीघ्र ही उन्हें नियुक्ति का एक तोहफा मिल सकता है ऐसी उम्मीद की जा सकती है ।