Dr Gyanchand Jangid

November 27, 2021

तुलसी(पौधा)कौन थी? इसकी पूजा क्यों की जाती है।

तुलसी (पौधा) तुलसी का पौधा जो अपने औषधीय गुणों और आध्यात्मिक महत्व के कारण युगों युगों से पूजा जाता रहा है । आज हम इसी तुलसी के पौधे के औषधीय गुणों और इसके आध्यात्मिक महत्व के बारे में जानते है…. औषधीय गुणों वाला घर घर मे पूजे जाने वाले और अपने दैनिक उपयोग का हिस्सा वाला पौधा तुलसी एक औषधीय पौधा है जिसमें विटामिन (Vitamin) और खनिज प्रचुर मात्रा में...

Read More
October 25, 2021

धर्म हमें हमारी संस्कृति और सभ्यता से जोड़े रखता है,हमें नैतिक शिक्षा देता है, हमें आत्मविश्वास देता है, धर्म मे विश्वास करो अंधविश्वास नही ।

यह भी एक सच्चाई है की संतान, संपत्ति और पारिवारिक समस्याओं से घिरे हुए समस्याओं से समाधान जाने वाले व्यक्ति, लोग ऐसे अंधविश्वास के अधिक शिकार होते हैं ।महिलाएं अपनी धार्मिक प्रवृत्ति के कारण अंधविश्वास की अधिक शिकार होती है ओझा और तांत्रिकों के चंगुल में व्यक्ति बच्चे की बलि देने जैसे मानवीय कृत्य करने के लिये भी आमादा हो जाते हैं । समझ में नहीं आता कि यह कैसी...

Read More
October 13, 2021

लोकायुक्त क्या है ? राजस्थान के पहले और वर्तमान लोकायुक्त कौन है ?

जिस प्रकार केंद्र में लोकपाल जैसे पद का सृजन किया गया है। किसी भी देश में इस तरह के पद या संस्था का सृजन या  इस तरह के किसी कानून निर्माण करने का उद्देश्य राजनीति व प्रशासन के सभी स्तरों पर भ्रष्टाचार को खत्म करना है। उसी प्रकार राज्यों में लोकायुक्त जैसे पद का सृजन किया गया है। इस तरह के पद या संस्था के सृजन या इस तरह के...

Read More
October 13, 2021

लोकपाल / ओंबड्समैन क्या हैं ?भारत के पहले व वर्तमान लोकपाल/ ओम्बुड्समैन कौन है ?

लोकपाल शाब्दिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो लोकपाल शब्द संस्कृत भाषा  के “लोक” तथा ” पाल” शब्द से बना है । जिसमें लोक का अर्थ लोगों से हैं तथा पाल का अर्थ रक्षक या रखवाले से है। इस प्रकार शाब्दिक दृष्टिकोण से लोकपाल का अर्थ जनता का रक्षक या जनता की रक्षा करने वाले से हैं। किसी भी देश में इस तरह के पद या संस्था का सृजन या  इस...

Read More
October 5, 2021

ग्राम पंचायत का प्रशासनिक ढांचा क्या है ? ग्राम विकास अधिकारी के कार्य क्या है ?

आधुनिक लोकतांत्रिक शासन प्रणाली में जब जनता के द्वारा प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के माध्यम से शासन किया जाता है।  इन जनप्रतिनिधि (राजनीतिक)और प्रशासनिक अधिकारियों(प्रशासनिक) के तालमेल से ही किसी शासन और प्रशासन का कार्य सुव्यवस्थित और संगठित रूप से संपन्न किया जाता है और इसी शासन और प्रशासन के दो प्रमुख आधार स्तंभ जिनमें एक को सामान्यज्ञ (राजनीतिक प्रमुख) कहा जाता है तो दूसरे को विशेषज्ञ...

Read More
October 2, 2021

विश्व का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज “तिरंगा” 2 अक्टूबर को हुआ इसका’लेह’में अनावरण

अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस 2 अक्टूबर का दिन न केवल भारत बल्कि वैश्विक स्तर पर अपना महत्व रखता है यह पूरे विश्व को शांति और अहिंसा का संदेश देता है। यह दिन हम भारतीयों के लिए सोने पर सुहागा तब हो जाता है क्योंकि 2 अक्टूबर 2021 को न केवल महात्मा गांधी का जन्म दिवस है बल्कि सादगी के पर्याय लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन भी है। ज्ञात हो कि महात्मा...

Read More
October 2, 2021

संभागीय प्रशासन और उसका संगठनात्मक ढांचा क्या है ? संभागीय आयुक्त के पद का सृजन कब हुआ ?

आधुनिक लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में शासन और प्रशासन को सुव्यवस्थित संचालन करने तथा राजनीतिक मुखिया को नीति निर्माण व योजना निर्माण में सहयोग और सहायता देने तथा सरकारी नीतियों को आम जनता तक पहुंचाने,उनकी मॉनिटरिंग करने, उन्हें लागू करने के लिए सभी स्तरों जैसे सचिवालय प्रशासन ,संभाग प्रशासनिक, जिला प्रशासन, उपखंड प्रशासन, तहसील प्रशासन,पंचायत प्रशासन पर एक प्रशासनिक ढांचा होता है ।  राजस्थान राज्य की प्रशासनिक व्यवस्थाओं को मध्य नजर...

Read More
September 30, 2021

राज्य सचिवालय का प्रशासनिक ढांचा। मुख्य सचिव से संबंधित जुड़ी समस्त जानकारियां।

आधुनिक लोकतांत्रिक शासन प्रणाली में जब जनता के द्वारा प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के माध्यम से शासन किया जाता है।  इन जनप्रतिनिधि (राजनीतिक)और प्रशासनिक अधिकारियों(प्रशासनिक) के तालमेल से ही किसी शासन और प्रशासन का कार्य सुव्यवस्थित और संगठित रूप से संपन्न किया जाता है और इसी शासन और प्रशासन के दो प्रमुख आधार स्तंभ जिनमें एक को सामान्यज्ञ (राजनीतिक प्रमुख) कहा जाता है तो दूसरे को विशेषज्ञ...

Read More
September 29, 2021

बघेरा जगदीश मंदिर का नवनिर्माण:- धाकड़ समाज के करीब 60 गांव मिलकर कर रहे हैं भव्य मंदिर का निर्माण

अजमेर जिले के अंतिम छोर पर बसे हुए ऐतिहासिक, आध्यात्मिक, पौराणिकता का पर्याय बघेरा कस्बे में विश्व प्रसिद्ध विष्णु के वराह अवतार का प्रसिद्ध वह मंदिर जी कि वराह सागर किनारे स्थित है । इसी वराह सागर के किनारे और भगवान वराह के मंदिर के समीप ही एक प्राचीन मंदिर जिसकी कलाकृति, जिसकी निर्माण शैली अपने आप में एक अनुपम मंदिर है। इस मंदिर को प्राचीन समय से ही जगदीश...

Read More
September 29, 2021

जिला प्रशासन व उसकी सरंचना : भारत मे पहला जिला कलेक्टर कौंन था ?

जिला (District) किसी भी राज्य और राज्य सरकार की प्रशासनिक व्यवस्था को सुगमता पूर्वक संचालन के लिए प्रशासन की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होती है । राज्य प्रशासन को विभिन्न संभागों और संभागों को जिलों में विभाजित किया गया है । जिला शब्द लेटिन भाषा के शब्द ‘डिस्ट्रिक्ट’ ( District) का प्रायवाची शब्द है जिसका अर्थ होता है न्यायिक प्रशासन के उद्देश्य से बनाया गया क्षेत्र या एक इकाई । यह...

Read More