मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी संवत 2006

26 जनवरी का दिन भारत के लिए एक ऐतिहासिक दिन है जिसके लिए सैकड़ों हजारों देशभक्तों ने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अपना बलिदान दिया था। 

भारत के वीर शहीद देशभक्तों के त्याग और बलिदान के परिणामस्वरुप ही आज की पीढ़ी गणतंत्र भारत में सांस ले रही है ।आज ही के दिन यानी 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू हुआ था।

हालांकि भारतीय संविधान का निर्माण कैबिनेट मिशन योजना 1946 के तहत गठित की गई डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद की अध्यक्षता वाली संविधान सभा के द्वारा 26 नवंबर 1949 ( मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी विक्रम संवत 2006 )को पूर्ण कर लिया था । 

  • 26 जनवरी को ही क्यों लागू हुआ भारतीय संविधान

भारतीय संविधान को लागू करने के लिए एक ऐसे ही ऐतिहासिक दिन को यादगार बनाना चाहते थे । इसी को मद्देनजर रखते हुए 26 जनवरी के दिन को इसके लिए चुना क्योंकि सन 1929 में पं.जवाहरलाल नेहरु की अध्यक्षता वाले लाहौर कांग्रेस अधिवेशन में भारत के लिए पूर्ण स्वराज्य की मांग का लक्ष्य रखा गया। 


इसके अतिरिक्त 26 जनवरी 1930 को भारत का पहला स्वतंत्रता दिवस मनाए जाने की घोषणा की थी, इसीलिए एक ऐतिहासिक दिन के महत्व के कारण अग्रिम वर्ष 26 जनवरी 1950 को ही भारतीय संविधान लागू किया। जिससे प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस के रूप में बड़ी ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भारत में गणतंत्र शासन प्रणाली फ्रांस के संविधान से प्रभावित है।

  • संविधान 26 जनवरी से पहले इस दिन ही आंशिक रूप से लागू हो गया था।

क्या आप इस बात से परिचित हैं कि भारतीय संविधान भले ही 26 जनवरी को 1950 को लागू हुआ लेकिन यह आंशिक रूप से इससे पूर्व ही लागू हो चुका था जी हां सही सुना व सही समझा…. कैबिनेट मिशन योजना 1946 के तहत गठित भारतीय संविधान सभा ने 2 वर्ष 11 माह और 18 दिन के अथक प्रयासों से 26 नवंबर 1949 ( मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी विक्रम संवत 2006 )को ही भारतीय संविधान का निर्माण पूरा कर लिया था और इसी दिन संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मा अर्पित कर लिया गया था । इसी दिन भारतीय संविधान के कुल अनुच्छेद जिनकी संख्या 16 है तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया था। 

इसीलिए कहा कि यह 26 नवंबर 1949 ( मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी विक्रम संवत 2006 ) को ही भारतीय सविधान आंशिक रूप से लागू कर दिया गया था।

  • कितने अनुच्छेद लागू हुए थे आंशिक रूप से 

भारत के संविधान में 395 अनुच्छेद है लेकिन 26 नवंबर 1949 को संविधान आंशिक रूप से लागू कर दे गया था जिसके तहत संविधान के कुल 16 महत्वपूर्ण अनुच्छेद तत्काल प्रभाव से लागू कर दिए गए थे । 

  • वह अनुच्छेद है जो तत्काल लागु कर दिये थे? 

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 5 अनुच्छेद 6, अनुच्छेद 7, अनुच्छेद 8,अनुच्छेद 9 ,अनुच्छेद 60,अनुच्छेद 324,अनुच्छेद 366, अनुच्छेद 367, अनुच्छेद 379, अनुच्छेद 380, अनुच्छेद 388,अनुच्छेद 391,अनुच्छेद 392,अनुच्छेद 393 और अनुच्छेद 394,ध्यान देने योग्य बात है कि अनुच्छेद 394 में उन अनुच्छेदों स्पष्ट उल्लेख है जो कि 26 नवंबर 1949 को तत्काल प्रभाव से लागू किए गए । अतः इन बाकी 15 अनुच्छेदों को लागू करने के लिए अनुच्छेद 394 को भी लागू करना पड़ा था । इस प्रकार आंशिक रूप से लागू होने वाले अनुच्छेदों की संख्या 16 थी। 

  • विक्रम संवत 2006 को हुआ था आंशिक रूप से लागू संविधान

26 नवंबर 1949 को हिंदी महीने कैलेंडर के हिसाब से देखा जाए तो उस दिन मिति मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी विक्रम संवत 2006 का दिन था।

  • संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है इस दिन को

26 नवंबर को प्रतिवर्ष विधि दिवस के रूप में मनाया जाता रहा है, लेकिन वर्तमान सविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है । सन 2015 में जब केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार थी तब से इसे सविधान दिवस के रूप में मनाये जाने की शुरुआत की गई।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page