TGT 2012
  • जिसकी चाहत में अखियां तरसी है ,जिंसके मिलने को बरसों बरसी है,होने वाला उसका दीदार है आने वाली वो बहार है

प्रदेश में सबसे अधिक विवादित शिक्षक भर्ती कहलाने वाली 2012 की तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती लगभग 9 वर्ष होने के बावजूद भी यह भर्ती परीक्षा न तो पूरी हो पाई है और नहीं विवादों से इसका संबंध खत्म हुआ है। सरकार जो भी आई हो सभी ने बेरोजगारों के साथ खेल खेला है। अगर कुछ मिला है तो केवल नेताओं के आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। मजबूरन आज भी तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के अधिक अंकधारी बेरोजगार दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो रहे हैं । अब इसे शासन प्रशासन का उपेक्षापूर्ण तरीका कहें या नेताओं की इच्छा शक्ति की कमी या फिर बेरोजगारों की बदकिस्मत। जिम्मेदार जो कोई भी हो लेकिन आज भी बेरोजगारो और उनकी भावनाओं के साथ खिलवाड़ हो रहा है। 

  • बेरोजगारों में जाग उठी है उम्मीद की किरण

कहा जाता है कि डूबते को तिनके का सहारा ही काफी होता है या फिर उस वक्त जब चारों तरफ उदासियां, रुसवाईयां नजर आती हो उस वक्त अगर कोई आकर हमदर्दी के दो शब्द बोल दे या कहे कि” मैं हूं ना” तो एक उम्मीद सी जगने लगती है । एक नई रहा दिखाई देने लगती है । ऐसा ही कुछ हुआ पिछले दिनों जब राजस्थान बेरोजगार संघ एकीकृत की महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने सोशल मीडिया पर लाइव आकर तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के बेरोजगारों को कुछ संबल दिया है । 

अपने लाइव प्रोग्राम में राजस्थान बेरोजगार संघ एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने कहा है कि साथियों तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के बेरोजगार काफी परेशान है ,उन्होंने कहा कि सरकार से जो जवाब दिलाना है उसके लिए मैं प्रयास कर रहा हूं और सरकार सकारात्मक है। 

  • बेरोजगारो से जयपुर आने का आह्वान

अपने लाइव प्रोग्राम में उन्होंने कहा है कि तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के तमाम विद्यार्थी 10 सितंबर को होने वाले महापड़ाव/धरना में जयपुर 22 गोदाम पर 10 बजे जरूर पहुंचे ताकि मुख्यमंत्री जी से मुलाकात होने पर उनको इस बारे में अवगत कराया जा सके कि अप्रेल में हुई वार्ता में जो सहमति बनी थी उनमे बाकी भर्तियों से साथ-साथ तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के समाधान के लिए भी सहमति बनी थी । संख्या बल के आधार पर सुप्रीम कोर्ट में होने सितंबर माह में होने वाली अगली सुनवाई में सरकार से सकारात्मक जवाब दिलाने के लिए दबाव डाला जा सके ।

ज्ञात हो कि राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले उपेन यादव के द्वारा चलाये गए महाअभियान और महापड़ाव के मध्य नजर रखते हुए मंत्रिमंडलीय समिति और बेरोजगारों के प्रतिनिधियों के बीच कुछ मांगो पर सहमति बनी थी । इसके अतिरिक्त उपेन यादव की मुख्यमंत्री जी से वार्ता के दौरान भी चार विभिन्न मांगों पर सहमति बनी थी ।

  • अब अंतिम होगी सुनवाई होगी -उपेन यादव

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने अपने लाइव प्रोग्राम में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के बेरोजगारों को आश्वस्त किया कि चौका भी लगेगा और  छक्का भी लगेगा।उन्होंने बड़े विश्वास के साथ कहां की आगे जो भी सुनवाई होगी अंतिम सुनवाई होगी जिसमें जीत भी होगी। उनका यह आत्मविश्वास तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 को लेकर शुभ संकेत की ओर इशारा करता है।

  • बेरोजगारो को मिल सकती है खुशखबरी

जिसकी चाहत में अखियां तरसी है ,जिंसके मिलने को बरसों बरसी है,होने वाला उसका दीदार है आने वाली वो बहार है

राजस्थान बेरोजगार एकिकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव के द्वारा दिये गए आश्वासन से तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के अंकधारी युवा बेरोजगारों को एक उम्मीद की किरण नजर आने लगी है। जैसे सूखे हुये ठूंठ में कोंपले फुट पड़ी हो । सब कुछ ठीक रहा और उपेन यादव के द्वारा किए गए प्रयास रंग लाएंगे। तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 वाले बेरोजगारों को जल्द ही खुशखबरी मिल सकती हैं ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page