अगर आपके गांव और कस्बे की स्कूल में 500 बच्चियों का पंजीकृत है तो आपके लिए यह सुकून देने वाली खबर हो सकती है जी हां सही पढ़ा आपने । राजस्थान में बालिका शिक्षा को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री माननीय अशोक जी गहलोत ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि जिस स्कूल में 500 बच्चियां होंगी वहां कॉलेज खोल दी जाएगी। यह घोषणा 3 जनवरी 2022 को जयपुर के गणगौरी बाजार स्कूल से 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन कार्यक्रम की विधिवत रूप से शुरुआत करने के दौरान कही है।

ज्ञात हो कि पिछले दिनों चूरू जिले में ग्राम पंचायत कातर छोटी मुख्यालय पर लगे प्रशासन गांवों के संग अभियान शिविर के अवलोकन व नवसृजित उप तहसील कातर छोटी कार्यालय के शुभारम्भ के मौके पर भी गहलोत जी ने कहा था कि जिन विद्यालयों में 500 छात्राएं पढ़ रही है। वहां महाविद्यालय खोले जाएंगे।

3 जनवरी 2022 को गणगौरी बाजार के स्कूल में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के परिणामस्वरूप सरकार को करीब 20,000 करोड रुपए का राजस्व कम हुआ है,फिर भी सरकार ने पिछले बजट में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं की और इस बार भी सरकार द्वारा दिल खोलकर बजट पेश किया जाएगा ।
मुख्यमंत्री जी की इस घोषणा से उन गांव व कस्बों की बालिकाओं को शिक्षा के अवसर उपलब्ध होंगे,जहां आज महाविद्यालय नहीं है और उन्हें उच्च शिक्षा के लिए किसी बड़े शहर की तरफ जाना पड़ता है । छोटे कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों के अभिभावक कई बार अपने बच्चों को बड़े शहरों में भेजना नहीं चाहते या किसी आर्थिक मजबूरी के कारण नहीं भेज पाते हैं तो उनके लिए मुख्यमंत्री जी की यह घोषणा किसी संजीवनी से कम नहीं है। 

वही इसका दूसरा सकारात्मक प्रभाव यह भी होगा कि अपने क्षेत्र और कस्बे में महाविद्यालय खोले जाने के लिए उस क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और शिक्षा जगत से जुड़े हुए व्यक्ति अभिभावक और युवा विद्यालयों में बालिकाओं का नामांकन वृद्धि का प्रयास जरूर करेंगे ताकि उनके क्षेत्र में भी महाविद्यालय की स्थापना हो सके और बालिकाओं को अपने ही क्षेत्र, अपने ही कस्बे में उच्च शिक्षा के अवसर उपलब्ध हो सके।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page