अक्सर संविधान सभा के सदस्यों की संख्या व आंकड़ो को लेकर जो अलग-अलग तरह के सवाल किये जाते है जैसे- संविधान सभा के मूल सदस्यों की संख्या कितनी है ? स्वतंत्रता के समय सदस्य संख्या कितनी थी?, संविधान पर हस्ताक्षर करने वाले सदस्यों की संख्या कितनी थी, और सबसे पहले व सबके बाद में हस्ताक्षर किसने किये थे ? ऐसे ही सवालों के जवाब की सटीक जानकारी करने के लिए संविधान सभा के सदस्यों से जुडा हुआ यह आलेख निश्चित रूप से आपके लिए उपयोगी सामग्री साबित होगा ।

  • संविधान सभा के सदस्यों की  संख्या का गणित क्या है ? 
  • कैबिनेट मिशन योजना 1946 के तहत भारतीय संविधान सभा में कुल 389 सदस्यों का निर्धारण किया गया था। लेकिन मुस्लिम लीग,कुछ देशी रियासतों और 03 जून 1947 के विभाजन के परिणामस्वरूप अंतिम रूप से इसकी संख्या घटकर घटकर 299 ही शेष रह गई थी।


● संविधान सभा के कुल 389 सदस्यों में से 292 सदस्य ब्रिटिश प्रांतों से,04 सदस्य चीफ कमिश्नर प्रांतों से और 93 सदस्य देशी रियासतों से थे। 
● 03 जून 1947 को विभाजन के बाद सदस्य संख्या घटकर 324 रह गई जिनमें से 232 सदस्य ब्रिटिश प्रांतों से 03 चीफ कमिश्नर प्रांतों से और 89 देसी रियासतों थे।
● 15 अगस्त 1947 को यह संख्या घटकर 299 रह गई, जिनमें से 226 सदस्य ब्रिटिश प्रांतों से 03 सदस्य चीफ कमिश्नर प्रांतों से और 70 सदस्य देशी रियासतों से थे।

  • संविधान पर हस्ताक्षर करने वाले सदस्यों की संख्या कितनी है ?

स्वतंत्रता के बाद भले ही संविधान सभा के सदस्यों की संख्या 299 रह गई हो लेकिन विभिन्न कारणों की वजह से 26 नवंबर 1949 ( संविधान सभा के 11वीं अधिवेशन के अंतिम दिन) को संविधान सभा द्वारा संविधान को अंगीकृत,अधिनियमित और आत्मार्पित किया था,उस दिन संविधान सभा के कुल 284 सदस्यों ने ही संविधान पर हस्ताक्षर किए थे।

  • किसने किए थे पहले और सबके बाद में हस्ताक्षर


संविधान सभा में जवाहरलाल नेहरू ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने सबसे पहले संविधान पर हस्ताक्षर किए थे। जहां तक सबके बाद में हस्ताक्षर करने वाले व्यक्ति के नाम का सवाल है तो डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद (संविधान सभा के अध्यक्ष )ने हस्ताक्षर किए थे ।

  • इन्होंने मना किया था संविधान पर हस्ताक्षर करने से

संविधान सभा का वह सदस्य जिसने संविधान निर्माण में अपना योगदान भले ही दिया हो लेकिन 26 नवंबर 1949 को हस्ताक्षर करने से मना कर दिया था । ज्ञात हो कि दशरथ मुहानी ने यह कहते हुए हस्ताक्षर करने से मना कर दिया कि -“मैं ऐसे संविधान को नहीं मानता”।

1.ध्यातव्य- संविधान सभा में कुल 15 महिलाओं ने भाग लिया तथा अंतिम रूप से 8 महिलाओं ने संविधान पर हस्ताक्षर किए थे


2. ध्यातव्य-संविधान सभा की एकमात्र दलित महिला सदस्य दक्श्यानी वेलायुद्धन थीं।

3.ध्यातव्य- संविधान सभा में राजस्थान से हस्ताक्षर करने वाले पहले व्यक्ति उदयपुर के बलवंत सिंह मेहता थे।

One thought on “संविधान सभा के सदस्यों की संख्या कितनी थी? संविधान पर कितने सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे? संविधान पर सबसे पहले हस्ताक्षर किसने किए थे?संविधान पर सबसे बाद में हस्ताक्षर किसने किए थे?सविधान पर हस्ताक्षर करने से मना किसने किया था?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page