राजस्थान के राज्यपाल

भारत का संविधान संघात्मक व्यवस्था का प्रावधान करता है। इसमें संघ तथा राज्यों के शासन के सम्बन्ध में प्रावधान किया गया है। संविधान के भाग 6 और अनुच्छेद- 153 के तहत् प्रत्येक राज्य के लिए एक राज्यपाल होगा। 7 वे संविधान संशोधन 1956 द्वारा यह प्रावधान कर दिया कि दो या दो से अधिक राज्यो का एक राज्यपाल भी हो सकता है ।

 संविधान के अनुच्छेद 154 के अनुसार राज्य की कार्यकारी शक्तियां सैद्धान्तिक रूप से राज्यपाल में निहित  होती है लेकिन वास्तविक रूप से मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के सदस्य ही उन शक्तियों का प्रयोगकर्ता होता है । संविधान के अनुसार, राज्यपाल राज्य स्तर पर संवैधानिक प्रमुख होता है ।

  • राजस्थान में राज्यपाल के पद का सृजन

स्वतंत्रता के पश्चात राजस्थान के पूर्व एकीकरण होने तक राजस्थान के एकमात्र राज्य प्रमुख महाराजा सवाई मानसिंह सेवा करते थे राजस्थान के एकीकरण के बाद 1 नवंबर 1956 को संविधान के अनुच्छेद 153 के तहत राज्य प्रमुख पद की जगह राज्यपाल के पद का सृजन किया गया।  राजस्थान के प्रथम राज्यपाल सरदार गुरुमुख निहाल सिंह बने जो तत्कालीन समय में दिल्ली के मुख्यमंत्री हुआ करते थे । 

  • राजप्रमुख का पद 

राजस्थान के एकीकरण के बाद  राजप्रमुख का पद सृजित हुआ था । इस पर 30 मार्च 1949 को जयपुर के पूर्व महाराजा सवाई मानसिंह को राज प्रमुख बनाया गया था । वे राज्य के पहले और एकमात्र राजप्रमुख थे जिन्होंने 1 नवंबर 1956  को राज्यपाल का पद सृजित होने  से पूर्व 31 अक्टूबर 1956 तक राजस्थान के राजप्रमुख के रूप में कार्य किया था।

  • राजस्थान में अब तक नियुक्त राज्यपाल 

1 नवंबर 1956 को पहले राज्यपाल  सरदार गुरुमुख निहाल सिंह की नियुक्ति से लेकर वर्तमान राज्यपाल कलराज मिश्र तक राजस्थान में कुल 23 व्यक्तियों की नियुक्ति हो चुकी है । इसके अतिरिक्त कुछ  राज्यपाल ऐसे है जिनको राजस्थान  राज्यपाल का अतिरिक्त चार्ज दिया गया था । राजपाल सरदार गुरुमुख निहाल सिंह का कार्यकाल सबसे अधिक और सरदार दरबारा सिंह का कार्यकाल सबसे कम रहा है । अचानक पद रिक्त होने पर कई बार कार्यवाहक राज्यपाल  की भी समय-समय पर नियुक्ति हुई है । इन राज्यपालों में से कुछ राज्यपाल ऐसे हैं जिनकी पद पर रहते हुए मृत्यु हो गई ।

1 सरदार गुरुमुख निहाल सिंह(1.11.1956 से 15.4.1962 )

2 डॉक्टर संपूर्णानंद सरदार  (16.4.1962 से 15.4.1967)

3 हुकम सिंह  (16.4.1967 से 19.11.1970)

4 जस्टिस जगत नारायण( चार्ज)( 20.11.1970 से 23.12.1970)

5  सरदार श्री हुकम सिंह  (24.12.1970 से 30.6.1972)

6 सरदार श्री जोगिंदर सिंह (01.7.1972 से 14.2.1977)

7 जस्टिस श्री वेद पाल त्यागी (चार्ज )(15.2.1977 से 11.5.1977)

8 रघुकुल तिलक (12.5.1981 से 5.3.1982)

9 जस्टिस के. डी शर्मा (चार्ज )(8.8.1981 से 5.3.1982)

10 ओ.पी. मेहरा  (6.3.1982 से 4.1.1985)

11  जस्टिस पी. के. बनर्जी (चार्ज)( 5.1.1985 से 31 .1.1985)

12 मुख्य मार्शल ओ. पी मेहरा(1.2.1985 से 3.11.1985)

13 जस्टिस डी पी गुप्ता (चार्ज )(4.11.1985 से 19.11.1985)

14 बसंतराव पाटिल (15.10.1987 से 19.2.1988)

15 जस्टिस जगदीश शरण वर्मा (चार्ज ( 20.11.1985 से 14.10.1987)

16  सुखदेव प्रसाद (20.2.1988 से 2.2.1989) 

17 जगदीश सरण वर्मा (चार्ज (3.2.1989 से 19.2.1989)

18 सुखदेव प्रसाद(20.2.1989 से 2.2.1990)

19 मिलाप चंद जैन (चार्ज ) (3.2.1990 से 13.2.1990)

20  देवी प्रसाद चट्टोपाध्याय ( 14.2.1990 से 25.8.1991) 

21 डॉक्टर स्वरूप सिंह( चार्ज ) (26.8.1991 से 4.2.1993)

22 डॉक्टर एम चेन्नारेड्डी (5.2.1992 से 30.5.1993)

23 धनिक लाल मंडल (चार्ज )(31.5.1993 से 29.6.1993)

24 बलिराम भगत (30.6.1993 से 30 4.1998)

25 सरदार दरबारा सिंह (1.5.1998 से 23.5.1998)

26 एंन एल टीबरीवाल( चार्ज )( 24.5.1998 से 15.1.1999)

27 जस्टिस अंशुमान सिंह निर्मल चंद जैन (16.1.1999 से 13.5.2003)

28 निर्मल चन्द जैन (14.5.2003 से 22.9.2003)

29 कैलाशपति मिश्रा( चार्ज  ( 22.9.2003 से 13.1.2004)

30 मदन लाल खुराना (14.1.2004 से 31.10.2004)

31 टी. वी. राजेश्वर(1.11.2004 से 7.11.2004)

32   श्रीमती प्रतिभा पाटिल (8.11.2004 से 23.6.2007) 

33 .ए.आर.किदवई (चार्ज )(23.6.2007 से 5.9.2007)

34 शैलेंद्र कुमार सिंह (6.9.2007 से 9.7.2009)

35 .श्री रामेश्वर ठाकुर ( चार्ज )  (10.7.2009 से 22.7.2009)

36. शैलेंद्र कुमार सिंह (23.7.2009 से 1.12.2009)

37 श्रीमती प्रभा राव (चार्ज (3.12.2009 से 24.1.2010)

38 श्रीमती प्रभा राव (चार्ज )   (3.12.2009 से 26.4.2010)

39 शिवराज पाटिल (चार्ज )(28.4.2010 से 11.5.2012)

40 श्रीमती मालर्ग्रेट अलवा (12.5.2012 से 8.8.2014)   

41 राम नायक (चार्ज )  (8.8.2014 से 4.9.2014)

42 कल्याण सिंह    (4.9.2014 से 8.9.2019)

43   कलराज मिश्र ( 9.9.2019 से… 

(ध्यान रहे कलराज मिश्र राजस्थान के राज्यपाल नियुक्त होने से पूर्व हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल थे)

  • वो राज्यपाल जिनकी पद पर रहते हुईं मृत्यु

राजस्थान के प्रथम राज्यपाल गुरुमुख निहाल सिंह से लेकर वर्तमान राज्यपाल कलराज मिश्र तक राजस्थान में चार ऐसे राज्यपाल रहे हैं जिनकी पद पर रहते हुए जिनमें 


1 दरबारा सिंह

दरबार सिंह राजस्थान के ऐसे पहले राज्यपाल हैं जिनकी पद पर रहते मृत्यु हुई । इन्होंने 1 मई 1998 से 25 मई 1998 तक कुल 24 दिन तक इस पद पर कार्य किया ।राजस्थान के किसी राज्यपाल का यह सबसे का कार्यकाल था।

निर्मल चंद जैन

राजस्थान दूसरे ऐसे राज्यपाल है जिनकी पद पर रहते हुए मृत्यु हुई । इन्होंने 14 मई 2003 से 22 सितंबर 2003 तक कार्य किया ।

3 शैलेंद्र कुमार सिंह 

ये राजस्थान के ऐसे तीसरे राज्यपाल है जिनकी पद पर रहते मृत्यु हुई  । इन्होंने 6 सितंबर 2007 से 1 दिसंबर 2009 तक राज्यपाल के रूप में कार्य किया ।

4 श्रीमती प्रभा राव

यह राजस्थान चौथे और प्रथम महिला राज्यपाल हैै जिनका निधन कार्यकाल के दौरान हुआ । इन्होंने 25 जनवरी 2010 से 26 अप्रैल 2010 तक इस पद पर कार्य किया ।

राजस्थान की महिला राज्यपाल

राजस्थान की अब तक की राज्यपालों में तीन ऐसे महिलाये है जिन्हीने  इस पद को सुशोभित किया है। 

श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल 

राजस्थान की पहली महिला राज्यपाल श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल रही है । इनको ताई जी के नाम से भी जाना जाता हैन। ज्ञात हो कि राज्यपाल रहते हुए यह देश की पहली महिला राष्ट्रपति भी बनी।  इन्होंने राजस्थान के राज्यपाल के रूप में 8 नवंबर 2004 से 23 जून 2007 तक कार्य किया था।

श्रीमती प्रभाराव

राजस्थान की दूसरी महिला राज्यपाल के रूप में श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल थी जिन्होंने पहले राजस्थान के कार्यवाहक राज्यपाल के रूप में भी कार्य किया प्रतिभा देवी सिंह पाटिल के पश्चात यह राजस्थान की दूसरी महिला राज्यपाल थी । इन्होंने 25 जनवरी 2010 से 26 अप्रैल 2010 तक राज्यपाल के पद को सुशोभित किया लेकिन इनकी पद पर रहते हुए मृत्यु हो गई ।

श्रीमती मारर्ग्रेट अल्वा


श्रीमती मार्ग्रेट अलवर राजस्थान की तीसरी महिला राज्यपाल है जिन्होंने 22 मई 2012 से 7 अगस्त 2014 तक राजस्थान के राज्यपाल के रूप में कार्य किया। 

  • किसका कार्यकाल रहा सबसे अधिक किसका सबसे कम 

राजस्थान के प्रथम राज्यपाल रहे सरदार गुरमुख निहाल सिंह ने रियासतों के पुनर्गठन के बाद  01 नवम्बर 1956 को पदभार संभाला था तथा 15 अप्रेल 1962 तक इस पद पर आसीन रहे। इनका यह कार्यकाल राजस्थान के राज्यपाल के रूप में अब तक के राज्यपालों में सबसे लंबा कार्यकाल रहा।जहाँ तक सबसे कम कार्यकाल वाले राज्यपाल की है तो सरदार दरबरा सिंह ऐसे राज्यपाल हैं जिनका इस पद पर सबसे न्यूनतम कार्यकाल रहा पद ग्रहण करने के बाद 24 दिन कार्य करने के पश्चात उनकी मृत्युु हो गई थी। 

  • राष्ट्रीय आपातकाल और राजस्थान के राज्यपाल
    भारतीय संविधान के अनुच्छेद 352 के तहत देश में अब तक तीन बार राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया गया था
  • (1) डॉ संपूर्णानंदपहली बार भारत और चीन युद्ध के समय 26 अक्टूबर 1962 को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की गई उस समय राजस्थान के राज्यपाल डॉ संपूर्णानंद थे।
  • (2) हुकम सिंह – जब देश में दूसरी बार 3 दिसंबर 1971 को  भारत-पाक युद्ध के समय राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया गया तब राजस्थान के राज्यपाल हुकम सिंह थे ।
  • (3) सरदार जोगिंदर सिंह – आंतरिक अशांति के नाम पर जब 25 जून 1975 को तीसरी बार राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया गया । उस समय राजस्थान के राज्यपाल सरदार जोगिंदर सिंह थे।
  • राज्यपाल इन संस्थाओं का होता है मुखिया

(1) राजस्थान का राज्यपाल पश्चिमी क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र उदयपुर के सभापति होते हैं ।

(2) राजस्थान के राज्यपाल स्काउट तथा गाइड्स राजस्थान के संरक्षक होते हैं ।

(3) राजस्थान के राज्यपाल रेड क्रॉस सोसाइटी राजस्थान राज्य शाखा के अध्यक्ष होते हैं ।

(4).राजस्थान के राज्यपाल राज्य सैनिक बोर्ड राजस्थान के सभापति भी होते हैं ।

(5).राजस्थान के राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लाभ के लिए एकीकृत निधि की प्रबंधन समिति के सभापति होते हैं।

  • इन लोगो ने किया कार्यवाहक राज्यपाल के रूप में कार्य

(1).जस्टिस जगत नारायण, (2) जस्टिस श्री वेद पाल त्यागी (3) जस्टिस के.डी.शर्मा (4) जस्टिस पी.के बनर्जी (5) जस्टिस डी. पी .गुप्ता( 6) जस्टिस जगदीश सरण वर्मा (7) मिलाप चंद जैन (8) डॉक्टर स्वरूप सिंह (9) धनिक लाल मंडल (10) एन.एल टिबरिवार (11) कैलाशपति मिश्रा (12) टी.वी राजेश्वर (13) ए .आर .किदवई (14) श्री रामेश्वर ठाकुर (15) श्रीमती प्रभा राव (16) शिवराज पाटील (17) राम नायक ।

  • ध्यातव्य.
  • राजस्थान के राज्यपाल रघुकुल तिलक वर्ष 1958 से 1960 तक राजस्थान लोक सेवा आयोग के सदस्य भी रह चुके हैं।
  • राजस्थान में चार बार राष्ट्रपति शासन लागू हुआ जिनमें से (1) 1967 में डॉक्टर संपूर्णानंद (2) 1977 में वेद पाल त्यागी (कार्यवाहक ) (3) 1980 में रघुकुल तिलक तथा (4) 1992 में एम चेन्ना रेड्डी राज्यपाल थे।
  • सरदार जोगिंदर सिंह राजस्थान के ऐसे  प्रथम राज्यपाल है जिन्होंने अपने पद से त्यागपत्र दिया था।
  • रघुकुल तिलक राजस्थान के एक मात्र राज्यपाल है जिनको बर्खास्त किया गया ।
  • राजस्थान के पहले कार्यवाहक राज्यपाल और उच्च न्यायालय के न्यायाधीश जस्टिस जगदीश सरण वर्मा थे जिन्होंने मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर 1988 को पद की शपथ दिलाई थी।
  • जस्टिस एन एल टिबरेवाल दूसरे ऐसे राज्यपाल थे जिन्होंने अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page